Okay. Not quite the Champions League medal you were expecting. But you’ve won year’s supply of non-bio washing powder. 

Okay. Not quite the…

by HowTo

89

Thanks for the...

  1. 49Smile
  2. 13Inspiration
  3. 6Laugh
  4. 6Story
  5. 2Mindtrip
  6. 3Help
  7. 10Feelings

Thank the author

3

Comments

  1. ×

    subhashchandra1947

    ज़िन्दगी मिली मैक़दे के हर गिलास में
    न जाने रूह है अब किस की तलाश में।

    ज़ाहिर किए आशिक़ ने दाग़े दिल निहां
    देखाना है कितनी ताब है आफ़ताब में।

    सह गए दुनियां का हर ज़ुल्म बेसाख़्ता
    पर नहीं वो बेपरवा तबस्सुम नक़ाब में। over 3 years ago

  2. ×

    tais343

    que padre over 3 years ago

  3. ×

    meerVijaysinh

    3 years ago

Previous
Next